वन्य प्राणी सप्ताह: पक्षियों का कलरव एवं अठखेलियों से रू-ब-रु होने उमड़े प्रकृति प्रेमी

  • रामगढ़ झील एवं चिड़िया घर में बर्डवाच एवं नेचर वॉक में सभी उम्र के जुड़े प्रेमी
  • वन्य जीव सप्ताह के समापन में सोशल डिस्टेसिंग, मास्क और सैनेटाइजर का रखा गया ध्यान

गोरखपुर: पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा मनाए जा रहे वन्य प्राणी सप्ताह के समापन पर बुधवार को रामगढ़ झील एवं शहरीद अशफाक उल्लाह खा प्राणी उद्यान में आयोजित ‘बर्ड वाच एवं नेचर वॉक’ में सुबह-सबेरे पक्षियों का कलरव सुनने और अटखेलियों का आनंद उठाने प्रकृति प्रेमी उमड़े। सुबह 6.30 से 7.30 तक के लिए निर्धारित आयोजन, 9 बजे तक चलता रहा। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग, सैनेटाइजेश और मास्क का अनिवार्य रूप से सभी ने इस्तेमाल किया।

पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग गोरखपुर वन प्रभाग, शहीद अशफाक उल्लाह खॉ प्राणी उद्यान एवं हेरिटेज फाउंडेशन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर अतिथि जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर एवं कानपुर प्राणी उद्यान के डॉ आरके सिंह भी शामिल हुए। डीपीआरओ ने शहरवासियों का रुझान देख बर्डवाच एवं नेचर वॉक के आयोजन की सराहना करते हुए इसे मासिक आयोजन बनाने पर जोर दिया।

उधर कानपुर प्राणी उद्यान के डॉ आरके सिंह ने वन्य प्राणी सप्ताह पर प्रकाश डाला। शहरवासियों के कार्यक्रम के प्रति रुझान की सराहना की। उन्होंने कहा कि गोरखपुर में कुसम्ही जंगल, रामगढ़ झील, निर्माणाधीन शहीद अशफाक उल्ला खॉ प्राणी उद्यान एवं उद्यान के अंदर 34 एकड़ का वेटलैंड गोरखपुर के लोगों का सौभाग्य है। पूछा कितने शहर वासियों को अपने शहर के बीच में ये सुविधाएं मिलती है? लोगों को प्राणी उद्यान में आने वाले वन्यजीव के प्रति जागरूक करते हुए वन्यजीव के संरक्षण के प्रति जागरूक किया। हेरिटेज फाउंडेशन की अनीता अग्रवाल ने अतिथियों एवं प्रकृति प्रेमियों का स्वागत किया।

उपस्थित प्रकृति प्रेमियों को वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर धीरज कुमार सिंह एवं वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर एवं पेशे से आर्किटेक्ट अनुपम अग्रवाल से परिचित कराया। उन्होंने आश्वस्त किया कि जिस तरह शहरवासियों ने उत्साह बढ़ाया, ऐसे कार्यक्रम आगे भी आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम में हेरिटेज फाउडेशन के ट्रस्टी नरेंद्र कुमार मिश्र, अनिल कुमार तिवारी, रंजीता पाण्डेय, अनुपमा मिश्रा, डॉ संजय कुमार श्रीवास्तव ने सभी का आभार व्यक्त किया।

हर वर्ग से शामिल हुए प्रकृति प्रेमी
रोटरी क्लब गोरखपुर के अध्यक्ष विक्रम चौधरी, डॉ नरेश अग्रवाल, प्राणी उद्यान से डॉ योगेश प्रताप सिंह, डीडीयू से असिस्टेंट प्रोफेसर सीमा मिश्रा, रोटेरियन मान्धाता सिंह, माला श्रीवास्तव, चिड़ियाघर से एसीएफ विवेक यादव, उच्च क्षेत्रीय वन अधिकारी अजय तिवारी, वन दरोगा रोहित सिंह, चंद्र भूषण पासवान, उप प्रभागीय वन अधिकारी संजय मल्ल, दीक्षा श्रीवास्तव, अभिषेक त्रिपाठी, वीना त्रिपाठी, सुषमा त्रिपाठी, कार्तिक मिश्र, सरोज राय, आकांक्षा मिश्र, सुरम्या, वृजेश कुमार वैश्य, स्नेह वैश्य, अदिति मिश्रा, वत्सला राय, वर्तिका, तनिष्का, सरिता, उत्कर्ष, ईश्वर सिंह, एचयूआरएल से एश्वर्या राय, संगम, अतुल त्रिपाठी, आलोक, जितेंद्र देव उपाध्याय, कथक नृत्यांगना पायल, अमित सिंह पटेल, अनुराग सुमन, राजकीय निर्माण निगम से प्रोजेक्ट मैनेजर डीपी सिंह समेत काफी संख्या में लोग शामिल हुए।

इन पक्षियों से परिचित हुए पक्षी प्रेमी
वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर अनुपम अग्रवाल एवं धीरज कुमार सिंह ने लोगों को अपने कैमरों और वाइनाकुलर से ब्लैक हुड नाइट हेरॉन, कॉमन हूपू, पर्पल स्वैम्फ-हेन, ग्रे-हेरॉन, जकांना उर्फ जलकपोत, वॉटर हेन(पनमुर्गी), ब्लैक विंग स्टिल्ट, लेसर विसलिंग डक , लाल मुनिया, ब्लैक ड्रोगो, व्हाइट थ्रोटेड किंगफिशर, रोज रिंग पैराकीट, ग्रीन बी ईटर, इंडियन लिटिल कोर्मोरेंट, पर्पल सनबर्ड आदि से जान पहचान की। दोनों वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर से रुचि लेकर पक्षी प्रेमियों की जान पहचान कराई।