छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला, सीआरपीएफ के 22 जवान शहीद

बीजापुर: बीजापुर के तररेम में शनिवार को एसटीएफ, डीआरजी, सीआरपीएफ और कोबरा के जवान नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए निकले थे. इस दौरान नक्सलियों के साथ भयंकर मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ में कई नक्सलियों के मारे जाने की खबर है. हालांकि, मुठभेड़ के दौरान घात 22 जवान शहीद हो गए. पूरे इलाके को घेर लिया गया है. सर्च ऑपरेशन जारी है.

 

घटना स्थल से एक महिला नक्सली का शव मिला है. मुठभेड़ बीजापुर के नाचने में हुई है. शहीद हुए जवानों के पार्थिव शरीर को घटना स्थल से निकाला जा रहा है. जवानों के शव को सबसे पहले जिला मुख्यालय लाया जाएगा. जहां शवों के पोस्टमार्टम के बाद आखिरी सलामी देकर उनके गृह ग्राम के लिए रवाना किया जाएगा.

 

सीएम बघेल ने कहा सर्च ऑपरेशन जारी

 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि तकरीबन 4 घंटे तक चली फायरिंग में हमारे जवान शहीद हुए हैं. कई जवान घायल हैं. ऑपरेशन अब भी जारी है. उन्होंने कहा कि, उनसे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने फोन पर बात की है, उन्होंने सीआरपीएफ के डीजी को घटना स्थल पर भेजने की बात कही है.

 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भूपेश बघेल से फोन पर की बात

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की. बीजापुर में हुई मुठभेड़ पर गृहमंत्री ने चर्चा की है. गृह मंत्री ने सीआरपीएफ के महानिदेशक को घटनास्थल पर जाने के निर्देश दिए गए हैं. गृह मंत्री ने फोन पर बात करते हुए कहा कि केंद्र और राज्य मिलकर नक्सल हिंसा का मुकाबला करेंगे और जीतेंगे.

 

मुठभेड़ पर प्रतिक्रिया देते हुए सूबे के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि नक्सलियों ने जवानों पर मोर्टार लॉन्चर से हमला किया. साहू का कहना है कि नक्सलियों ने मोर्टार लॉन्चर के साथ-साथ आधुनिक हथियारों से भी हमला बोला.

 

शहीद जवानों में 6 बीजापुर जिले के रहने वाले थे. एक चारामा और एक जांजगीर चापा जिले के थे. इसके अलावा शहीदों में एक जवान असम के रहने वाले थे.

जवानों को श्रद्धांजलि देने पहुंचने लगे लोग और बीजापुर के अस्पताल मे परिजनों की भीड़ लगने लगी है.