भाई ने ही पत्नी और बेटे के साथ मिलकर की थी साधु की हत्या, जानिए क्या थी वजह?

गोरखपुर: चौरीचौरा भरतपुर निवासी साधु परोरा गुप्ता की हत्या उसके भाई ने ही प्रापर्टी के लिए पत्नी व बेटे के साथ मिलकर की थी। चौरीचौरा पुलिस ने बुधवार को हत्यारोपी दंपती को गिरफ्तार कर लिया। वारदात में शामिल इनका बेटा फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल लोहे की रॉड बरामद कर ली है।

 

 

यह भी पढ़े…..

मनुरोजन यादव: छात्र राजनीति से लेकर पूर्वांचल की राजनीति में बनाई अपनी एक अलग पहचान

भरतपुर निवासी साधु परोरा की दो मार्च की रात सिर कूंचकर हत्या कर दी गई थी। दूसरे दिन सुबह उनका शव बरामदे में पड़ा मिला था। पुलिस ने चौकीदार की तहरीर पर परोरा के भाई प्रद्युम्न, उसकी पत्नी मुन्नी और बेटे अरविंद के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया था।

बुधवार को पुलिस ने मुन्नी और उसके पति को फुटहवा इनारा के पास से पकड़ लिया। पूछताछ में प्रद्युम्न ने बताया कि परोरा की कोई संतान नहीं है। लेकिन वह अपनी संपत्ति उसके बजाय किसी और को देना चाहता था। इसलिए परिवार के साथ मिलकर उसने भाई के हत्या की योजना बनाई।

वारदात की रात परोरा बरामदे में सो रहे थे। तभी मुन्नी और अरविंद ने उन्हें दबोच लिया और प्रद्युम्न ने लोहे की रॉड से सिर और चेहरे पर कई वार किए। इसके बाद आरोपी घर छोड़कर फरार हो गए। पुलिस का कहना है कि फरार अरविंद की तलाश तेज कर दी गई है।