अच्छी खबर: ब्लैक फंगस से बचाएंगी आयुर्वेद की दवाएं, तीन दवाओं के सेवन के लिए आयुष मंत्रालय की गाइडलाइन जारी

गोरखपुर: कोरोना संकट के साथ ब्लैक फंगस के मामले के बीच एक अच्छी खबर आई है। दरअसल, ब्लैक फंगस के इलाज व रोकथाम की तैयारियां काफी तेज हो गई हैं। वहीं, आयुर्वेद विभाग ने भी इस दिशा में पहल शुरू कर दी है। आयुष मंत्रालय में गाइडलाइन जारी कर ब्लैक फंगस की रोकथाम का उपाय बताया है। उसने आयुर्वेद की तीन दवाओं के सेवन के साथ ही खान-पान व परहेज पर भी जोर दिया है।

इन दवाओं के सेवन का निर्देश

क्षेत्रीय आयुर्वेदिक अधिकारी डॉ. प्रकाश चंद्र ने बताया कि मंत्रालय ने संशमनी वटी, निशामालकी वटी व सुदर्शन घनवटी (सभी पांच-पांच सौ एमजी) सुबह व रात में लेने का निर्देश दिया है। संशमनी वटी व निशामालकी वटी सुबह व रात में एक-एक गोली तथा सुदर्शन घनवटी सुबह एक व रात में दो गोली लेने को कहा है। यह दवा सभी पोस्ट कोविड मरीजों व जिन्होंने तीन सप्ताह से अधिक स्टेरायड का प्रयोग किया है, उन्हें लेना जरूरी है। इससे ब्लैक फंगस की रोकथाम में मदद मिलेगी।