अब प्रदूषण जांच केंद्र खोलकर ऐसे करें कमाई- जानें, कैसे करें आवेदन

गोरखपुर: प्रदूषण जांच केंद्र भी रोजगार का जरिया बनेंगे। अब सिर्फ संस्थाएं नहीं बल्कि कोई भी व्यक्ति प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आवेदन कर सकेगा। परिवहन विभाग के नियम और शर्तों को पूरा करने के बाद वह व्यक्ति अपना केंद्र खोल सकता है। इसके लिए बनाए गए विशेष पोर्टल पर बृहस्पतिवार से ऑनलाइन आवेदन शुरु हो गया है।

परिवहन विभाग ने जिले के हर थाना क्षेत्र में एक प्रदूषण जांच केंद्र खोलने की योजना तैयार की है। हाईस्कूल पास बेरोजगार व्यक्ति इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। डीजल और पेट्रोल दोनों प्रदूषण जांच केंद्रों को खोलने के लिए 10 हजार रुपये बतौर फीस ऑनलाइन जमा करनी होगी।

इनमें से एक के लिए पांच हजार रुपये जमा करने होंगे। केंद्र के प्राधिकार की वैधता तीन साल की होगी। उसके बाद नवीनीकरण कराना होगा। जांच केंद्र खोलने वाले की न्यूनतम अर्हता दसवीं पास के साथ कंप्यूटर चलाने का ज्ञान होना आवश्यक है।

 

यह है जांच रेट…..

पेट्रोल चलित दोपहिया वाहन -50 रुपये, तिपहिया पेट्रोल, सीएनजी व एलपीजी गाड़ी-70 रुपये, चार पहिया वाहन, पेट्रोल, सीएनजी, एलपीजी-70 रुपये, ट्रक व अन्य डीजल वाहन-100 रुपये।

प्रशासन सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी श्यामलाल ने कहा कि प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए संस्थानों की बाध्यता समाप्त कर दी गई है। अब कोई भी व्यक्ति जो पात्र हो वह प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है।

यह भी पढ़े……

मनुरोजन यादव: छात्र राजनीति से लेकर पूर्वांचल की राजनीति में बनाई अपनी एक अलग पहचान