अपराधियों के 92 गैंग पर गोरखपुर पुलिस की टेढ़ी नजर, रडार पर इतने बदमाश

गोरखपुर: पंचायत चुनाव में पुलिस की नजर जेल से छूटे पेशेवर बदमाशों पर है। डीआइजी के आदेश पर थानेदार व चौकी प्रभारी सबका सत्यापन कर रहे हैं। जमानत पर छूटा जो बदमाश घर पर होगा पुलिस उसकी निगरानी करेगी। आपराधिक गतिविधि में लिप्त होने और दबंगई दिखाने पर निरोधात्मक कार्रवाई होगी।

 

यह भी पढ़े…..

मनुरोजन यादव: छात्र राजनीति से लेकर पूर्वांचल की राजनीति में बनाई अपनी एक अलग पहचान

जमानत पर रिहा बदमाशों पर होगी सख्ती
जिले में बदमाशों के 92 गैंग पंजीकृत हैं। इसमें गैंग लीडर समेत 407 सदस्य हैं। पंजीकृत गैंग के 291 बदमाश वर्तमान में जमानत पर रिहा हैं। अभियान के अंतर्गत उन सभी बदमाशों के भी घर जाकर पुलिस मौजूदगी का भौतिक सत्यापन करेगी। पंचायत चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए पेशेवर अपराधियों को गतिविधियों पर नजर रखने के साथ ही गांव में जाकर उनके बारे में जानकारी जुटाएगी। चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश करने वालों पर निरोधात्मक कार्रवाई की जाएगी।

 

गोरखपुर में बदमाशों के इतने गैंग


गैंग                 संख्या            सदस्य

माफिया            24               138

लुटेरा               22                105

वाहन चोर        12                  39

नकबजनी         05                 25

डकैती              01                 11

आबकारी         15                  38

पासपोर्ट           01                  03

भू-माफिया        09                 16

खनन माफिया    01                 01

ठेकेदार माफिया  03                 21

एसएसपी दिनेश कुमार पी का कहना है कि पंचायत चुनाव में दबंगई करने वालों के साथ पुलिस सख्ती से पेश आएगी।इस संबंध में जिले के सभी थानेदारों को निर्देश दिए गए हैं। जमानत पर छूटे बदमाशों की निगरानी कराई जा रही है।