दिल्ली में पकड़े गए ISIS आतंकी के बाद इंडो-नेपाल बार्डर पर अलर्ट, बढ़ाई गई चौकसी

A joint team of security personnel from Nepal and India checking a horse-driven cart on the Nepal-India border at the Raxaul-Birgunj border point, on Sunday, January 24, 2016. Photo: THT

महराजगंज: भारत-नेपाल सरहद से आतंकी घुसपैठ की आशंकाओं के मद्देनजर सीमा पर सुरक्षा व खुफिया एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। जिसको लेकर सीमा पर सतर्कता और सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली में मुठभेड़ के बाद पकड़े गए आईएसआईएस आतंकी से पूछताछ के बाद गृह मंत्रालय के निर्देश पर सीमावर्ती क्षेत्र की पुलिस एवं अन्य सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हैं। पगडंडियों पर विशेष नजर है।

शनिवार की सुबह निर्देश मिलने के बाद सतर्कता के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पिछले कुछ साल में इंडो-नेपाल बार्डर पर संदिग्ध आतंकी पकड़े जा चुके हैं। भारत-नेपाल सीमा के रास्ते आतंकी धुसपैठ की खुफिया रिपोर्ट के बाद सरकार ने सीमा पर हाई अलर्ट जारी कर दिया है। जिसके मद्देनजर सीमा सुरक्षा बल के साथ सिविल पुलिस और खुफिया एजेंसिया सर्तक हैं।

कोरोना महामारी के कारण भारत नेपाल की प्रमुख सीमाएं सील हैं। फिर भी अतिआवश्यक एवं मेडिकल जरूरत के लोगों को विशेष पास या प्रशासन की अनुमति के बाद आने-जाने दिया जा रहा है। नेपाल से आने वाले भारतीय ट्रक की हेडमेडल डिटेक्टर व मिरर डिटेक्टर से चेकिंग की जा रही है। संदिग्ध प्रतीत होने पर उसका फोटो तथा नाम, पता एक रजिस्टर में दर्ज करने के साथ उनके आईडी प्रूफ की भी जांची जा रही है।

सीमा क्षेत्र के सभी नाको पर गश्त तेज कर दी गई है। भारत सरकार गृह मंत्रालय के निर्देश पर सुरक्षा एजेंसियां संयुक्त रूप से जहां नो मेंस लैंड के करीब गश्त कर रही हैं, वही सरहद के सभी पगडंडी मार्गो पर कड़ा पहरा है। क्षेत्राधिकारी नौतनवां रणविजय सिंह ने बताया कि सीमा पर अलर्ट है। एसएसबी के साथ हर नाको पर गश्त और चेकिंग अभियान तेज कर दिया गया है। सीमा पार से आने वाले लोगों की जांच की जा रही है।