गोरखपुर में मिले व्हाइट फंगस के 12 मरीज: 9 मरीज बीआरडी के पोस्ट कोविड वार्ड में भर्ती, तीन कोविड मरीजों में भी मिला लक्षण

गोरखपुर: कोरोना महामारी के बीच लगातार मिल रहे ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस ने मरीजों की मुसीबतों को और बढ़ा दिया है। मंगलवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पहली बार 12 व्हाइट फंगस के मरीज मिले हैं। इनमें नौ मरीज पोस्ट कोविड ओपीडी में फंगस के लक्षण मिलने पर दिखाने आए थे। जबकि तीन कोरोना मरीज मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में भर्ती थे, जिनमें संक्रमण की पुष्टि हुई है। सभी का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है।

कोविड संक्रमण से ठीक हो चुके और कोविड मरीजों में अब ब्लैक और व्हाइट फंगस के लक्षण लगातार देखने को मिल रहे हैं। फंगस के लक्षण मिलने की वजह से ‌कोविड वार्ड में भी मुसीबतें बढ़ गई है। डॉक्टरों को समझ नहीं आ रहा है कि फंगस के संक्रमण को रोके कैसे? क्योंकि 15 कोविड मरीजों में ब्लैक फंगस के लक्षण मिलने पर उनका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। इनकी रिपोर्ट भी एक से दिनों के अंदर आने वाली है। इससे पहले एक साथ 12 मरीजों में व्हाइट फंगस की पुष्टि होने के बाद हड़कंप मच गया है। इनमें तीन ऐसे मरीज हैं, जो कोविड संक्रमित हैं। जबकि 12 मरीज संक्रमण मुक्ति पा चुके हैं। इसके बाद उनमें व्हाइट फंगस का संक्रमण दिखा है।

स्टेरॉयड ने बढ़ाई है मुसीबत

बताया जा रहा है कि जिन मरीजों में ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस के लक्षण मिले हैं, वह शुगर के भी मरीज रहे हैं। कोविड के दौरान उन्होंने स्टेरॉयड का प्र‌योग अधिक किया है। इसके अलावा कुछ और भी बीमारियां उनके अंदर देखी गई है। इसके अलावा जिन मरीजों में ब्लैक फंगस के लक्षण मिले थे, उनके इलाज में काफी हद तक सुधार है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ गणेश कुमार ने बताया कि ब्लैक फंगस के मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है। दो मरीजों के आंखों से दिख नहीं रहा था। लेकिन अब उन्हें दो फीट की दूरी से भी दिखाई देने लगा है। जबकि व्हाइट फंगस के मरीजों को ल्यूकोनोजोल और एंटीबॉयोटिक शुरू कर दी गई है।

चार मरीजों का चल रहा है इलाज

डॉ गणेश कुमार ने बताया कि चार ब्लैक फंगस के मरीजों का इलाज बीआरडी में चल रहा है। इसके अलावा 17 कोविड मरीज ऐसे हैं,‌ जिनमें ब्लैक फंगस के लक्षण मिले हैं। उनकी कल्चर एंड सेंसटिविटी जांच के लिए नमूना भेजा गया है। दो से तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट मिल जाएगी।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि व्हाइट फंगस के 12 मरीज मिले हैं। इनमें संक्रमण की पुष्टि हुई है। इन मरीजों का इलाज बीआरडी मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों की टीम कर रही है। पोस्ट कोविड ओपीडी में फंगस के लक्षण वाले मरीजों की संख्या ‌दिनोंदिन बढ़ रही है।